सिर से जुड़े इजरायली बच्चों को अलग कर भारतीय डॉक्टर ने बचाई जान

भारतीय मूल के न्यूरो सर्जन डॉ. नूर उल ओवैस जीलानी ने इजरायल में सिर से जुड़े दो बच्चों का सफल ऑपरेशन करके नया जीवन दिया है।

सिर से जुड़े इजरायली बच्चों को अलग कर भारतीय डॉक्टर ने बचाई जान

यरुशलम। भारतीय मूल के न्यूरो सर्जन डॉ. नूर उल ओवैस जीलानी ने इजरायल में सिर से जुड़े दो बच्चों का सफल ऑपरेशन करके नया जीवन दिया है।

कश्मीर से जुड़े जीलानी ने यह ऑपरेशन इजरायल के सोरोका हॉस्पिटल में किया। इसके लिए इजरायली डॉक्टरों ने उन्हें आमंत्रित किया था।

लंदन के ग्रेट ओरमंड स्ट्रीट हॉस्पिटल में कार्यरत डॉ. जीलानी और उनके सहयोगी प्रोफेसर डेविड डनवे ऐसे ऑपरेशन करने के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। लेकिन डॉ. जीलानी कहते हैं कि सभी चिकित्सक एक जैसे होते हैं। हम सभी का उद्देश्य लोगों की जान बचाना होता है। डॉ. जीलानी ने जिन बच्चों को अलग किया है वे यहूदी परिवार के हैं। अब ये बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ हैं। बच्चों के परिजनों ने डॉ. जीलानी के प्रति आभार जताया है।

बच्चों का ऑपरेशन करने वाले डॉ. जीलानी ने कहा कि ऑपरेशन के बाद के क्षण बहुत खास थे। बच्चों के माता-पिता उन्हें ठीक देखकर खुश भी हुए, रोऐ और हंसे भी। यह सब कुछ क्षणों में एक साथ हुआ। बच्चों की मां को ऐसा होने का भरोसा नहीं था। उन्होंने बताया कि इन जुड़वां बच्चों के ऑपरेशन के लिए एक महीने तैयारी की थी। पिछले 15 साल में उन्होंने इस तरह के चार जुड़वां बच्चों के ऑपरेशन कर उनको अलग किया है और नया जीवन प्रदान किया है। जबकि डॉक्टरों की इजरायली टीम के साथ इस मामले में वह पिछले छह महीने से संपर्क में थे। इसके बाद सभी ने मिलकर इस जटिल ऑपरेशन को अंजाम दिया।