इस्तीफा स्वीकार होने पर बेरोजगार हुई 'रिवाल्वर वाली महिला सिपाही'

सोशल मीडिया में रिवाल्वर के साथ वीडियो अपलोड करने वाली कानपुर की आगरा में तैनात रही महिला सिपाही का इस्तीफा स्वीकार हो गया। इससे वह बेहद आहत है और बेरोजगार होने पर कहा कि मुझे समझ में नहीं आ रहा कि क्या करुं।

इस्तीफा स्वीकार होने पर बेरोजगार हुई 'रिवाल्वर वाली महिला सिपाही'

सोशल मीडिया पर रिवाल्वर के साथ अपलोड किया था वीडियो

नौकरी जाने पर कहा, भावावेश में दिया था इस्तीफा

कानपुर। सोशल मीडिया में रिवाल्वर के साथ वीडियो अपलोड करने वाली कानपुर की आगरा में तैनात रही महिला सिपाही का इस्तीफा स्वीकार हो गया। इससे वह बेहद आहत है और बेरोजगार होने पर कहा कि मुझे समझ में नहीं आ रहा कि क्या करुं। उसने कहा कि भावावेश में आकर इस्तीफा दिया था, वह ट्रेनी सिपाही थी, उसे सही गलत की जानकारी नहीं थी। उसने सोचा था कि उसे बुलाकर समझाया जाएगा तो वह मान जाएगी।

मूलरूप से औरैया के बेला की रहने वाली महिला सिपाही प्रियंका मिश्रा का कानपुर नगर के कल्याणपुर में भी घर है। कानपुर में रहकर उसने पुलिस भर्ती की तैयारी की थी और वर्ष 2020 में पुलिस आरक्षी पद पर भर्ती हुई थी। झांसी में ट्रेनिंग के बाद इसी वर्ष आगरा के एमएम गेट थाने में पहली तैनाती मिली थी। इस दौरान उन्होंने वर्दी में रिवाल्वर के साथ एक वीडियो बनाया था। इसमें वह एक डायलाग पर कुछ बोलती दिखी थीं। 24 अगस्त को यह वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद एसएसपी मुनिराज ने मामले का संज्ञान लेते हुए महिला सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया और सीओ सदर राजीव कुमार को जांच सौंप दी। प्रियंका के मुताबिक इसी बीच सोशल मीडिया में ट्रोल किया जाने लगा तो भावावेश में आकर इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा देने के बाद सीओ ने जांच रिपोर्ट लगा दी और रविवार को इस्तीफा स्वीकार हो गया। सोमवार को पुलिस विभाग ने प्रियंका को इस्तीफा स्वीकार करने का पत्र थमा दिया। इस्तीफा स्वीकार होने पर प्रियंका का दर्द छलक गया और कहा कि भावावेश में आकर अवसाद की स्थिति में नौकरी से इस्तीफा तो दे दिया था, लेकिन शायद अंदाजा नहीं था कि शासन इतनी जल्दी उसे मंजूर कर देगा। उसने पछतावा जताते हुए कहा है कि इस्तीफा तो गुस्से में दिया था, क्या पता था कि इतनी जल्दी स्वीकार हो जाएगा। अगर एसएसपी समझाते तो मान जाती, अब समझ नहीं आ रहा क्या करूं।

देना होगा ट्रेनिंग का डेढ़ लाख रुपया

प्रियंका ने बताया कि इस्तीफा स्वीकार होने का विभाग ने कागज थमा दिया है। इसके साथ ही पत्र में लिखा गया है कि ट्रेनिंग का डेढ़ लाख रुपया देना होगा। यह भी लिखा है कि उसके परिवार वालों से बातचीत करने के बाद इस्तीफा स्वीकार किया गया है। जबकि ऐसा नहीं है, किसी ने न मुझसे और न ही परिवार वालों से बातचीत की है। प्रियंका ने कहा कि उसने एसएसपी आगरा को मीडिया में बयान देते सुना कि महिला सिपाही और उसके परिवार वालों को बुलाकर समझाया जाएगा। उसने सोचा था कि उसे बुलाकर समझाया जाएगा तो वह मान जाएगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ और इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया। बताया कि वह ट्रेनी सिपाही थी, उसे सही गलत की जानकारी नहीं थी। फिलहाल समझ नहीं पा रही हूं कि आगे क्या करूंगी।

बढ़ रही फॉलोअर्स की संख्या

रिवॉल्वर के साथ वीडियो बनाने वाली सिपाही प्रियंका मिश्रा के इंस्टाग्राम पर उनके फालोअर्स लगातार बढ़ते जा रहे हैं। उन्होंने अपने एकाउंट में कई और वीडियो शेयर किए हैं। सिपाही ने लाइन हाजिर होने के बाद इंस्टाग्राम पर एक वीडियो डाला था। इसमें उन्होंने इस्तीफा देने और ट्रोल नहीं करने की बात कही थी। तब उनके तीन हजार फालोअर्स थे। मगर, अब उनके 38500 फॉलोअर्स हो गए। उनके फालोअर्स की संख्या लगातार बढ़ रही है।