पाकिस्तान से संचालित मॉड्यूल के छह आतंकी गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को पाकिस्तान से संचालित (मॉड्यूल) छह आतंकवादियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। इनमें से दो आतंवादियों को पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आईएसआई ने प्रशिक्षण दिया है।

पाकिस्तान से संचालित मॉड्यूल के छह आतंकी गिरफ्तार

नवरात्र-दशहरा और दिवाली पर देश को दहलाने की थी योजना

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को पाकिस्तान से संचालित (मॉड्यूल) छह आतंकवादियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। इनमें से दो आतंवादियों को पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आईएसआई ने प्रशिक्षण दिया है। इस मॉड्यूल के तार अंडरवर्ल्ड डाउन दाउद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम से जुड़े हैं।

स्पेशल सेल के उपायुक्त प्रमोद सिंह कुशवाहा ने मंगलवार को बताया कि दाउड इब्राहिम का भाई अनीन इन आतंकियों को फंडिंग भी कर रहा था। इन आतंकियों की निशानदेही पर पुलिस ने तैयार विस्फोटक (आईईडी), इटली के हथियार और कारतूस जब्त किए हैं।

उपायुक्त ने बताया कि इनकी पहचान मुंबई, महाराष्ट्र निवासी जान मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया (47), अबू फजल एंक्लेव, जामिया नगर, दिल्ली निवासी ओसामा उर्फ समी (22), रायबरेली, उत्तर प्रदेश निवासी मूलचंद उर्फ लाल (47), जीबी नगर, इलाहाबाद निवासी जीशन कमर (28), बहराइच, उत्तर प्रदेश निवासी मोहम्मद अबू बकर (23) और प्रेमवती नगर, बक्सी का तालाब, लखनऊ उत्तर प्रदेश निवासी मोहम्मद आमिर जावेद (31) के तौर पर की गई है।

इनमें से पुलिस ने सूचना के आधार पर सबसे पहले जान मोहम्मद को कोटा से चलती ट्रेन से दबोचा, जब वह मुंबई से लौट रहा था। वहीं, ओसामा और मोहम्मद आमिर जावेद को दिल्ली के जामिया नगर से दबोच गया। बाकी आतंकियों को दिल्ली पुलिस की टीम ने उत्तर प्रदेश पुलिस की एटीएस के साथ संयुक्त रूप से छापामारी कर दबोचा।

उपायुक्त ने बताया कि अभी तक की पूछताछ में पता चला है कि पाकिस्तान संचालित यह मॉड्यूल देश के कई हिस्सों में आगामी दिनों में त्योहार के दौरान आतंकी घटना को अंजाम देने के फिराक में था। यह मॉड्यूल दो तरह से काम कर रहा था। कुछ लोगों को जिम्मेदारी दी गई थी कि वे उन स्थानों की रेकी करें, जहां पर त्योहार खासकर रामलीला के दौरान बहुत भीड़ होती है। दूसरे मॉड्यूल को हथियार और विस्फोटक का इंतजाम करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

पूछताछ में पता चला है कि दिल्ली के जामिया नगर से दबोचे गए आतंकी ओसामा और जीशन प्रशिक्षण लेने के लिए मस्कट के रास्ते पाकिस्तान गए थे, जहां पर आईएसआई के अधिकारियों ने उन्हें प्रशिक्षत किया था। ये दोनों दिल्ली और उत्तर प्रदेश में ऐसे ठिकानों की तलाश में थे, जहां आतंकी हमले को अंजाम दिया जाए। उपायुक्त ने बताया कि आतंकी जान मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया के तार अनीस इब्राहिम से जुड़ा था। अनीस अपने भाई दाउन इब्राहिम की तरह ही देश में बड़े धमकों को अंजाम देने के फिराक में था।