लखीमपुर खीरी हिंसा के विरोध में राजस्थान कांग्रेस का यूपी मार्च

राजस्थान कांग्रेस ने भरतपुर जिले के ऊंचा नांगल बॉर्डर से होते हुए लखीमपुर खीरी जाने की तैयारी की। हजारों की संख्या में जूटे कांग्रेस कार्यकर्ताओं का नेतृत्व प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने किया।

लखीमपुर खीरी हिंसा के विरोध में राजस्थान कांग्रेस का यूपी मार्च

यूपी बॉर्डर पर किया विरोध प्रदर्शन

हिंसा के आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग
फतेहपुर सीकरी (नीरज शुक्ला) उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई घटना के बाद कांग्रेस लगातार आक्रमण होती नजर आ रही है। इसी क्रम में राजस्थान कांग्रेस ने भरतपुर जिले के ऊंचा नांगल बॉर्डर से होते हुए लखीमपुर खीरी जाने की तैयारी की।
हजारों की संख्या में जूटे कांग्रेस कार्यकर्ताओं का नेतृत्व प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने किया। मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए डोटासरा ने कहा कि, किसानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने दिया जाएगा। कॉन्ग्रेस पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाकर रहेगी। उन्होंने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की अवैध हिरासत और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ लखनऊ एयरपोर्ट पर हुए दुर्व्यवहार को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि इसका जवाब आने वाले समय में देश की जनता देगी।
हजारों की संख्या में पैदल मार्च करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता यूपी की सीमा पर पहुंचे। सीमा पर पहुंचकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंक कर रोष प्रकट किया।
पुतला दहन के बाद उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि मोदी सरकार जब पहली बार सत्ता में आई, तो भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन करना चाहती थी, लेकिन उन्हें ऐसा करने नहीं दिया गया। अब तीन काले कानून लेकर आ गई है जिसका फायदा सिर्फ चंद पूंजीपतियों को होगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने लखीमपुर खीरी में किसानों को कुचलने वाले आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर उन्हें फांसी देने की मांग की।
खबर लिखे जाने तक हजारों की तादाद में कांग्रेस कार्यकर्ता यूपी सीमा में धरने पर बैठ सरकार विरोधी नारेबाजी कर रहे है।