गांगुली पर बायोपिक बनाएगी लव फिल्म्स

भारत के पूर्व कप्तान और वर्तमान भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने गुरुवार को खुलासा किया कि लव फिल्म्स उनकी क्रिकेट यात्रा पर एक बायोपिक का निर्माण करेगी।

गांगुली पर बायोपिक बनाएगी लव फिल्म्स

नई दिल्ली। भारत के पूर्व कप्तान और वर्तमान भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने गुरुवार को खुलासा किया कि लव फिल्म्स उनकी क्रिकेट यात्रा पर एक बायोपिक का निर्माण करेगी।

गांगुली ने ट्वीट किया, "क्रिकेट मेरा जीवन रहा है, इसने मुझे आत्मविश्वास और सिर ऊंचा करके आगे बढ़ने की क्षमता दी, एक यात्रा जिसे पोषित किया जाना है। रोमांचित है कि लव फिल्म्स मेरी क्रिकेट यात्रा पर एक बायोपिक का निर्माण करेगी और इसे बड़े पर्दे पर जीवंत करेगी।"

गांगुली मैदान पर अपनी नेतृत्व शैली और आक्रामक रुख के लिए प्रसिद्ध थे। राहुल द्रविड़ द्वारा 'गॉड ऑफ साइड' कहे जाने वाले गांगुली कभी चुनौतीपूर्थ स्थिति में पीछे नहीं हटे। बल्कि, वह हमेशा आगे बढ़कर हर चुनौतियों का सामना करने और उन पर विजय पाने पर विश्वास करते थे।

गांगुली ने 1997 में पाकिस्तान के खिलाफ लगातार चार मैन ऑफ द मैच पुरस्कार जीते। 2000 में, मैच फिक्सिंग कांड ने भारतीय खेमे को घेर लिया और गांगुली को तब टीम का कप्तान बनाया गया। दादा के कप्तान बनते ही उन्होंने नई प्रतिभाओं को तैयार करना शुरू कर दिया। उनके नेतृत्व में ही युवराज सिंह, हरभजन सिंह, मोहम्मद कैफ, एमएस धोनी, आशीष नेहरा, और जहीर खान का उदय हुआ।

गांगुली ने पहली बार 2000 आईसीसी नॉकआउट ट्रॉफी के फाइनल में भारत का नेतृत्व किया। 2001 में, भारतीय क्रिकेट के लिए एक और महत्वपूर्ण क्षण आया जब गांगुली की अगुवाई वाली टीम ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया।

गांगुली ने भारत के लिए 113 टेस्ट और 311 एकदिवसीय मैच खेले। बाएं हाथ के बल्लेबाज ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में सभी प्रारूपों में 18,575 रन बनाए।

गांगुली ने सभी प्रारूपों में 195 मैचों में भारत का नेतृत्व किया था और उनमें से 97 मैच जीतने में सफल रहे थे। कोलकाता के राजकुमार बाद में बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) के अध्यक्ष बने और अब वह बीसीसीआई के अध्यक्ष हैं।